How to reduce belly fat

0
(0)

best way to burn belly fat fast

Welcome to recipe.care and as you know we have start to give the daily free Indian diet plan for weight loss for one month/year.

The major question that we are getting from our members is about tummy or belly fat. So today I am discussing  the best technique to get rid of the tummy fat or the belly fat.

This is a technique I used to reduce belly fat on myself and got real results.

Your body have two important hormones that effects the structure or fat deposition.

One is the growth hormone and another is the insulin.

Growth hormone is an important hormone that protects your muscles, body tissues, skin, bones and also it is the one that aids fat burning process.

The opposite of this is insulin. Insulin is responsible for many negative factors including storing fat. Insulin is commonly known as a hormone that burns sugar to produce energy in your body.

But there is more to it.

If there is more insulin in your body it will lead to more fat deposition. With insulin more than the required quantity your body will never lose fat. That is the real problem.

So why does insulin increase? And what is the relevance for a non diabetic patient? How to reduce belly fat?

Even if you are not diabetic the insulin amount in your body rises as soon as you eat something. With type 2 diabetic patients the insulin rise is much more higher as their cells are totally resistant to insulin. And therefore, anytime you eat something the insulin quantity in the body rises.

And the bad thing is that we have been trained to take food multiple times in a day. As an Indian you may take tea that contains sugar along with some biscuits. Later you have breakfast with poha, upma, vadaa, etc that are full of carbohydrates. During lunch you take chapatis and rice along with some sweets, and again you take in lot of carbs and sugar. Then comes the evening and we again prefer tea with some snacks, cookies and biscuits.

Night we go to sleep loaded with chapatis, rice, or sometimes kichadi along with other items and again these all contains carbs and sugars.

And those who drink tea, many time a day, like I did or coffee or cold drinks then this adds additional load on your pancreas.

Even if you are a non diabetic your body is constantly pumped with insulin. Insulin pushes glucose in the cell and the cells use it as their energy source.

The problem arises when these cells start to become insulin resistant. They require more and more insulin to take glucose. The more insulin resistant these cells get the more insulin is produced by pancreas. The more insulin the pancreas produce the more resistant the cells get. This is a vicious cycle.

This leads to excessive fat deposition in the body. But, usually the fat starts depositing on the belly.

When there is more insulin in the body the growth hormone subsides. Therefore, it might lead to protein destruction. The muscles wont grow, the skin will start to show black or brown spots, nerve damage can occur and so on. Many more other harmful effects can be seen in people with insulin resistant. In type 2 diabetic patient you see the same issues clearly. I myself was a type 2 diabetic for 7 years before I reversed it almost a year back.

But, belly fat accumulation is just the beginning. The sooner you take action the sooner you get results.

So let us talk about the solution to reduce belly fat

The best and highly effective solution is intermittent fasting. Yes, you heard it right. Intermittent fasting helps you in many ways. One of them is to get rid of the belly fat.

So the very obvious next question is how to do it and is it difficult?

The answer is simple. It is not difficult if you move ahead step by step. So here are the steps you can follow as I followed them myself to get results.

Step 1- No Sugar

Get rid of all sugars. Don’t go for soft drinks, cold drinks, or anything with sugar. You can replace your tea or coffee with artificial sweetener.
There are some natural sweeteners available in the market that can replace the sugar. I have given a link to safe and natural sugar replacements in almost all of my video on youtube. You can buy them here

https://amzn.to/38vgqbJ

Follow this for one week so that your body gets adapted.

Step 2 – Begin with IM

Here we begin the intermittent fasting. As the name suggest it is fasting but for a certain interval in a day. So step 1 should be not to eat anything for 13 hours after the dinner. Most of the period of this fasting will be covered with sleep. So that should be easy to begin.

This phase will be for a week so that your body further gets adapted to the fasting situation.

Step 3 – Get the glycogen gone.

Increase the gap from 13 to 16 hours. So if you have dinner at 10 in the night then the first food that you eat will not be before 2pm the next  day. Thus increasing the gap will start the process where your body start using other energy sources for it’s needs. The first thing that it finds is glycogen stored in the liver and muscles.

Glycogen is nothing but a form of sugar that body usually stores to use when glucose levels need to be optimized.
Follow this step for 2 weeks and your glycogen levels will deplete.

Step 4 – Kill the fat

This is the last step. In this you increase the gap from 16 to 18 hours. Thus your food intake window will be just for 6 hours. At this level the cells start to review and the insulin resistance start to get rectified. The body also start tapping stored fat, which is a power house of energy. This phase is called ketogenesis. But, you don’t have to jump to keto diet or any other diet plan. Just stick to what you usually eat in a day.

But, eat that in the window of 6 hours and not before or after that. Thus your body will start to burn your own fat and it will obviously use the fat stored in the belly area.

Follow this step until you do not get a flat stomach.

There are few things you can consume during intermittent fasting and the one that I recommend is 1 to 2 liters or warm water with 1-2 table spoons of apple cider vinegar mixed properly. You can add a pinch of salt if you have no high blood pressure.

This also reduces the visceral fat that accumulates around your internal organs and hamper their normal functioning.

Other important benefits

One more thing that I should tell you and that is a very positive impact of intermittent fasting that I got. If you have high blood pressure then with  intermittent fasting your blood pressure will start moving towards the normal side. Insulin the culprit and with intermittent fasting you keep a check on  that and save yourself from other damages too.

One last thing before I end this video. You should try walking, jogging, or floor exercises too to get the results faster. Also keep control on what you eat.

Just because you are eating in a short window doesn’t mean that you should eat without control. Best policy is to stick to the same diet that you had been eating in your lunch and dinner, but, without sugar.

Let me know in comment if you have any question.

For low carb indian recipes that you can use to replace your present recipes for vegetables and daals you can visit Recipe.Care website.

पेट कम करने का सबसे असरदार तरीका

दोस्तों वेलकम तो रेसिपी.केयर और जैसा की आपको मालूम होगा हमने फ्री इंडियन डाइट प्लान अगले ३६५ दिनों के लिए अपने चैनल पर पोस्ट करना शुरू कर दिया है. और जो सवाल सबसे ज्यादा मुज़हे पुछा जा रहा है वो है पेट के चर्बी कैसे कम की जाये. लोग बहुत कुछ कर रहे है पर पेट की चर्बी कम नहीं होती. तो आज मई आपको पाने पेट की चर्बी कम करने का सबसे असरदार तरीका बता रहा हु जो मैंने खुद पर आजमाई और अच्छे रिजल्ट्स प्राप्त किये.

आपके शरीर में दो महत्वपूर्ण हार्मोन्स होते है. एक होता है ग्रोथ हार्मोन और दूसरा होता है इन्सुलिन. वैसे तो शरीर में और भी कई हॉर्मोन्स होते है पर आज हम पेट की चर्बी की बात कर रहे है तो ये दोनों हॉर्मोन्स बहुत इम्पोर्टेन्ट हो जाते है.

ग्रोथ हॉर्मोन आपके शरीर में मसल्स, हड्डिया, इत्यादि मजबूत करने और बढ़ने में काम आता है. साथ ही ये फैट या चर्बी को जलने की प्रक्रिया को भी अच्छा करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

इन्सुलिन का मुख्य काम होता है शुगर या ग्लूकोस को शरीर की कोशिकाओं के अंदर धकेलना ताकि वो ऊर्जा के लिए ग्लूकोस जला सके. पर इसमें एक समस्या है. अगर आपके शरीर में इन्सुलिन बढ़ेगा तो वो फैट या चर्बी की मात्रा को भी बढ़ाएगा. और जाहिर है इन्सुलिन के नार्मल लेवल से ज्यादा रहते हुए आप कभी भी चर्बी को नहीं घटा सकते. पेट की चर्बी को तो कतई नहीं.

अब आपके मन में सवाल ये आ रहा होगा की इन्सुलिन इतना ज्यादा बढ़ेगा ही कैसे? आपको डायबिटीज तो है नहीं? और क्या जिसे डायबिटीज नहीं उसमे भी इन्सुलिन बढ़ता है क्या?

तो इसका जवाब है की इन्सुलिन खाने के बाद हर किसी में बढ़ता है. डायबिटिक पेशेंट में ये बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. पर बढ़ता हर किसी में है. जब भी आप कुछ कहते है ये बढ़ेगा.

एक भारतीय होने के नाते हम अक्सर सुबह की शुरुआत चाय से करते है जिसमे शक्कर होती है और शक्कर इन्सुलिन बढ़ता है. फिर हम नाश्ता करते है जिसमे ब्रेड, पोहा, उपमा, इडली, वडा, खमण इत्यादि लेते है जिसमे शक्कर, कार्बोहायड्रेट और प्रोटीन होता है तो फिर इन्सुलिन बढ़ता है, फिर हम दोपहर को खाना कहते है जिसमे रोटियां और चावल होते है और ये कार्बोहायड्रेट से भरपूर होते है. शाम को फिर चाय के साथ कुछ स्नैक्स या बिस्किट्स या कुछ और खाते है तो फिर इन्सुलिन बढ़ता है और लास्ट में डिनर में हम फिर पेट भर खाना कहते है जो कार्बोहायड्रेट से भरपूर होता है और इन्सुलिन को फिर बढ़ा देता है.

और अगर आप दिन में कई बार चाय के शौक़ीन है, या शीतल पेय पीते है तो फिर ये इन्सुलिन तो दिन भर ऊपर नीचे डांस ही करता रहता है .
ऐसा कुछ समय बाद आपके शरीर में इन्सुलिन रेजिस्टेंस पैदा करने लगता है. कोशिकाएं बार बार इन्सुलिन के मात्रा बढ़ने से इन्सुलिन के प्रति आसक्त हो जाती है और इसलिए शरीर को और ज्यादा इन्सुलिन बनाना पड़ता है. इस स्टेज के आते ही आपके पेट पर चर्बी जमनी शुरू हो जाती है. आपने अक्सर लोगो को २७ से ३० साल की उम्र में ऐसे होते हुए देखा होगा. पहले धीरे धीरे पेट बढ़ता है फिर कुछ सालो बाद वो बहुत बड़ा और साफ़ साफ़ तोंद का रूप ले लेता है.

तो आप जितनी जल्दी हो सके इस इन्सुलिन रेजिस्टेंस और इन्सुलिन पर ही कण्ट्रोल पा ले. जितनी जल्दी शुरू करेंगे उतनी जल्दी रिजल्ट्स मिल जायेंगे.

इसको करने की एक तकनीक है और उसे हम कहते है इंटरमिटेंट फास्टिंग. शुरू करते है फर्स्ट स्टेप से पहला कदम आपका होगा शक्कर को पूरी तरह छोड़ना. आप चिंता ना करे. कार्बोहायड्रेट जो आप चावल और रोटी के रूप में कहते है वो भी पेट में जाते ही ग्लूकोस या शक्कर ही बन जाती है. तो घबराइए मत शक्कर की कमी नहीं होगी.

ये स्टेप आपको एक हफ्ते तक करना है ताकि आपका शरीर एडाप्ट कर ले

दूसरा कदम है इंटरमिटेंट फास्टिंग का. जैसा की नाम से ही पता चल रहा है की आप उपवास तो करेंगे पर दिन के कुछ समय के लिए ही. पूरे दिन नहीं. तो आपको शुरू करना है उपवास रात के खाने के बाद से. रात के खाने के बाद आप अगले १३ घंटे कुछ न खाये. चाय पीनी है तो तो बिन्ना शक्कर और दूध के. वर्ण ग्रीन टी या एप्पल साइडर विनेगर पानी में मिक्स करके पी सकते है. बाकी बचे ११ घंटो में आप जो भी रोज नार्मल खाना खाते है खा सकते है. शक्कर नहीं खानी

ये स्टेप आपको करना है एक हफ्ते.

तीसरा कदम आपको फैट लॉस की तरफ ले जायेगा. इसमें आपको १३ घंटे की जगह फ़ास्ट को १६ घंटे तक ले जाना है. याने की बाकी का खाना आप बाकी बचे ८ घंटो में कर ले. जब आप ये करना शुरू करेंगे तो शरीर ग्लाइकोजन या ग्लूकोस का ही एक रूप जो लिवर और मसल्स में स्टोर्ड रहता है, उसको ऊर्जा के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर देगा. चूँकि ग्लाइकोजन शरीर में पहुँचते ही शुगर का रूप ले लेता है तो जाहिर है इन्सुलिन अभी भी बढ़ेगा पर पहले जितना नहीं बढ़ेगा. पर इस कदम को पूरा करने के साथ ये समस्या ख़तम हो जाएगी.
इस स्टेप को आपने करना है २ हफ्ते.

अब आता है आखरी कदम और इसको करते हुए आप महसूस करेंगे की आपका फैट लॉस तेज हो गया है, शरीर में नयी ऊर्जा आ गयी है और आपका अपने को देखने का नजरिया बहुत पॉजिटिव होता जा रहा है.

इस कदम में आपको फास्टिंग या उपवास की अवधि पूरे १८ घंटे तक ले जानी है. बाकी जो ६ घंटे बचे उसमे आप रूटीन में जो खाते है खा सकते है. बस शक्कर नहीं लेनी. इस स्टेप को करने के साथ ही आपका शरीर पेट और अन्य जगह जमी चर्बी को ऊर्जा के लिए इस्तेमाल करना शुरू कर देगा. जैसे जैसे चर्बी इस्तेमाल होती जाएगी वैसे वैसे आपका मोटापा और खासकर पेट कम होगा.

यहाँ ये याद रखने वाली बात है की जिसमे जितनी चर्बी होगी उसको पूरी चर्बी ख़तम करते करते उतना ज्यादा टाइम लगेगा. अगर आपका सिर्फ पेट ही थोड़ा बढ़ा है पर बाकी शरीर में चर्बी नहीं तो आपका पेट कम होना शुरू होगा.
इस स्टेप को आप ४ से ६ हफ्तों तक कर सकते है.

इंटरमिटेंट फास्टिंग के दौरान जब भी भूख लगे तो आप ले सकते है ब्लैक कॉफ़ी, ग्रीन टी या फिर एक लीटर पानी के साथ दो चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिक्स करके दिन भर थोड़ा थोड़ा ले सकते है. ये तीनो चीजे ही भूक को कण्ट्रोल करेंगे.

अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो स्टेप ४ आते आते आपका ब्लड प्रेशर नार्मल की तरफ आने लगेगा. इन्सुलिन ज्यादा होने से ब्लड प्रेशर की समस्या भी होनी शुरू हो जाती है. इसलिए इंटरमिटेंट फास्टिंग के बहुत से फायदे है जो आप प्राप्त करेंगे.
कोई भी सवाल हो तो मुज़हे कमेंट में पूछ सकते है.

How useful was this recipe?

Click on a star to rate it!

As you found this recipe useful...

Follow us on social media!